चाणक्य नीति हिन्दी में :-  अध्याय छठवांं 1. पक्षियों में कौआ, पशुओं में कुत्ता ऋषि-मुनियों में क्रोध करने वाला और मनुष्य में चुगली करने वाला

Read More

चाणक्य नीति हिन्दी में :-  अध्याय पांचवांं 1. अग्नि देव ब्रह्मणों क्षत्रियों और वैश्यों के देवता हैं। ऋषि मुनियों के देवता हृदय में है। अल्प

Read More

चाणक्य नीति हिन्दी में :- अध्याय द्वितीय 1. झूठ बोलना, उतावलापन दिखाना, छल कपट, मूर्खता, अत्यधिक लालच, अशुद्धता और दयाहीनता, ये सभी दोष स्त्रियों में

Read More