करेला के घरेलू नुस्खे – Crela ke Gharelu Nuskhe

करेला – करेला पोषक तत्व का भंडार है। करेले में अनेक प्रकार के पोषक तत्वों की जानकारी के बारे में किसी को पता है और किसी को नहीं। इसीलिए सभी लोग इसका प्रयोग नहीं कर पाते। आयुर्वेद के अनुसार करेला मधुमेह डायबिटीज के साथ-साथ कई और बीमारियों में भी आराम देता है। यदि आप कड़वेपन के कारण करेला का उपयोग नहीं करते हैं। तो मैं आपको यह विश्वास दिलाता हूं कि इस जानकारी के बाद आप भी करेले से फायदा ले पाएंगे।

1. रूसी से छुटकारा पाने के लिए करेले के पत्ते के रस में हल्दी मिलाकर लगाने से डैंड्रफ से छुटकारा मिलता है।

2. अधिक ज्यादा जोर से बोलने या चिल्लाने से आपका गला बैठ गया है। आवाज सही से निकल रही है तो 5 ग्राम करेला के जड़ के बेस्ट में मधु 5 मिली तुलसी के रस के साथ मिलाकर पीने से आपका गला ठीक हो जाएगा।

3. जुखाम बुखार को ठीक करने के लिए 5 ग्राम करेले के जड़ का घोल बना लें। इसमें 5 मिली तुलसी के रस मिलाकर इसका प्रयोग करें। इससे सांसो से रोग जुखाम और कफ की बीमारी ठीक हो जाती है।

4. कान के दर्द में भी करेले का इस्तेमाल आरामदायक होता है। करेले के ताजे फलों पत्तों को पीसकर रस निकल ले।इसे गुनगुना करके दो बूंद कान में डालने से कान दर्द में आराम मिलेगा। करेले के

5. सिर दर्द में आराम पाने के लिए करेले के पत्ते के रस में थोड़ा गाय का घी और पित्त पापड़े का रस मिलाकर इसका लेप करने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

6. पेट में कीड़ा होने पर 10 – 12 मिली करेला के पत्ते का रस पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

7. बहुत सारी स्त्रियों का यह कहना है कि मां बनने के बाद शिशु के पिलाने भर का दूध नहीं हो रहा है। महिलाएं करेले के 20 ग्राम पत्ते को पानी में उबालकर इसे छान लें। और पिये इससे स्तानों में दूध की वृद्धि होती है।

8. मासिक धर्म के विकार में भी करेले का उपयोग बहुत लाभदायक हो सकता है 10 से 15 मिली करेले के पत्ते के रस में 1 ग्राम सोंठ 500 मिग्रा पीपल का चूर्ण मिला लें। इसे दिन में 3 बार पीने से मासिक धर्म विकारों में आराम मिलता है।

9. करेले का प्रयोग कर दाद को ठीक किया जा सकता है। करेले के पत्ते के रस को दाद वाले भाग पर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।

10.  करेले के उपयोग से चर्म रोग में भी आराम मिलता है। करेले के पौधे दालचीनी पीपल और चावल को जंगली बादाम के तेल में मिलाकर लगाने से त्वचा विकार चर्म रोग की समस्या ठीक हो जाती है।

11. करेले का फायदा वायरल फीवर या ठंड लगकर बुखार मे भी किया जा सकता है। इसके लिए करेले के 10 से 15 मिली रस में जीरे का चूर्ण मिलाकर इसे दिन में 3 बार पीने से राहत मिलता है।

12. बहुत लोग तलवे के जलन से परेशान रहते हैं। इसमें करेले के पत्ते के रस को तलवे पर लगाने से आराम मिलता है।

13. चेहरे पर या बॉडी के अन्य भागों पर फुंसी हो गई है। तो करेले के पत्ते के रस को फुंसी पर लगाने से फुंसी ठीक हो जाती है।

14. करेले का प्रयोग निमोनिया में लाभदायक होता है।   5 से 10 मिली करेले के पत्ते के रस को गुनगुना कर ले। इसमें थोड़ा केसर मिलाकर इसे दिन में 3 बार पीने से निमोनिया ठीक होता है।

15. करेले से मोतियाबिंद में फायदा होता है मोतियाबिंद से ग्रस्त लोग करेले की जड़ को घोड़े के पेशाब में घिस लें। इसे दो से तीन बूंद की मात्रा में आंखों में डालने से मोतियाबिंद की समस्या में आराम मिलता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *