पीपल के घरेलू नुस्खे – Pipal Ke Gharelu Nuskhe

पीपल – पीपल एक अमृत तत्व वाला वृक्ष माना जाता हैं। पीपल के जड़ से लेकर पत्तों तक मे रोग निवारण की अद्भुत क्षमता होती हैं। दूध जैसा निकलने वाला इसका रस हृदय रोग मे रामबाण की तरह काम करता है। आयुवेर्दिक ग्रंथो मे पीपल के औषधीय गुणों के बारे में अनेक उपचार बताया गया है। वृक्षों में पीपल का स्थान सबसे ऊंचा माना जाता हैं। क्योंकि यह वायु मंडल मे सबसे अधिक मात्रा में आक्सीजन पीपल के माध्यम से ही मिलता हैं। जिससे हम सांस लेकर जीवित रहते है। इसलिए यह हमारे सेहत के लिए अधिक लाभकारी होता हैं।

1. सांसो संबंधित बिमारी से बचाने के लिए पीपल के सूखी छाल का चूर्ण बनाकर 5 ग्राम की मात्रा में पानी में साथ दिन में तीन बार लेने से सांसो से संबंधित बिमारी ठीक हो जाती हैं।

2. आंखों से पानी आने पर पीपल के सात कोपलें एक कप पानी में रात को भिगो कर रखें। सुबह उठकर उसी पानी से आंखों को धोने के पानी गिरना बंद हो जायेगा।

3. पेट में कब्ज और एसीडिटी होने पर पीपल के पत्ते को छाया में सूखाकर बारीक पीस लें। फिर गुड़ के साथ गोली बनाकर रात को सोने से कुछ देर पहले दूध के साथ दो गोली खाने से तुरंत आराम मिलता हैं।

4. दातों के दर्द को दूर करने के लिए पीपल के छोटे पत्ते को काली मिर्च के साथ पीसकर मटर के आकार की गोली बनाकर दांतो तले दबाकर रखने से दर्द में आराम मिलता हैं।

5. नाकसीर से छुटकारा पाने के लिए 50 ग्राम पीपल का गोद और 50 ग्राम मिश्री मिलाकर चूर्ण बना लें। फिर डेली सुबह 3 ग्राम की मात्रा में खाने से नाक से खून आना बंद हो जायेगा।

6. पीलिया रोग को दूर करने के लिए पीपल के पाँच पत्ते और लसौढे के पाँच पत्ते को बारीक पीसकर इसमें सेधा नमक मिलाकर 15 दिन तक पीने से पीलिया पूरी तरह से ठीक हो जायेगा।

7. संतान हीन स्त्रियों के लिए पीपल के सूखे फलों को खूब बारीक पीसकर कपड़ें मे छान कर चूरन बना लें। फिर इस चूरन को एक गिलास शुद्ध गुनगुना दूध के साथ रोजाना सेवन करने से गर्भाधान जरूर होगा। मासिक धर्म के दिनों में इसका प्रयोग नही करना चाहिए।

8. चर्म रोग से छुटकारा पाने के लिए पीपल वृक्ष के नीचे विश्राम करना चाहिए। जिससे हमारा शरीर स्वास्थ्य रहता हैं।

9. बच्चे को नजर से बचने के लिए पीपल के पत्ते को जलाकर धुंआ को बच्चे के शरीर में लगने से नजर उतर जाता हैं।

10. आंखों में जलन या लाली होने पर पीपल के कोपलों के रस में शुद्ध शहद मिलाकर आंखों में डेली लगाने से आंखों की समस्या दूर हो जायेगी।

11. जहरीले जीव जन्तु के काटने पर बिष को कम करने के लिए यादि आप को कोई चिकित्सक नहीं मिल रहा है।तो पीपल पत्ते के रस को थोड़ी थोड़ी देर में पीने से बिष का असर कम होने लगता हैं।

12. दाद खाज खुजली को ठीक करने के लिए पीपल के मुलायम पत्ते को खाये। या फिर इसका काढ़ा बनाकर पीने से आराम मिलता हैं।

13. छोटे छोटे फोड़े या फुंसियां होने पर पीपल की छाल को घिसकर फोड़े पर लगाने से फुंसियां ठीक हो जाता हैं।

14. फटी एड़ियों की समस्या को कम करने के लिए पीपल के पत्तो का दूध निकालकर एड़ियों मे नियमित रूप से लगाने से कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता हैं।

15. हकलाने की समस्या को दूर करने के लिए पीपल के पके हुए फलों को सूखाकर चूर्ण बना ले। फिर  इस चूर्ण को शहद के साथ खाने से हकलाने की समस्या खत्म हो जायेगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *